मंगलवार, 18 मार्च 2014

पिंटूआ - 3

चिंटूआ उ लड़की के पीछे एतना पागल आ obsessed था की दिन रात ओकरे नाम के माला जपता था। उ ससुरा बगल के नर्सरी से दू तीन दर्जन गुलाब के फूल लाता और छत के छज्जा पर बैठकर She Loves Me, She Loves Me Not कहता और साथ साथ गुलाब के फुल पूरा पंखुड़ी नोच के जियान कर देता।

वहीँ छज्जे के नीचे बैठा पिंटुआ झाड़ू निकाला आ सब फूल को समेट के उस लडकिया के देह पे फेंक दिया आ कहा की ए सुनती हो आई लभ यू । लडकियो इतना ना खुश हो गयी की उ भी कह दी आई लभ यु टू पिंटू।

बेचारा चिंटूआ आजकल दिन भर ऊहे छज्जा पर बैठकर खैनी मलता है और अपना चाइनीज मोबाइल पर फुल साउंड में बेवफाई वाला गाना सुनता है।

अच्छा सिला दिया तूने मेरे प्यार का यार ने ही लुट लिया घर यार का।




कोई टिप्पणी नहीं: