शुक्रवार, 6 सितंबर 2013

रात

Painting : Vincent van Gogh 
रात , 
रात का मतलब, 
सिर्फ सोना नहीं होता।  
रात का मतलब होता है 
की जागते रहो 
अगर दिल में रखते हो किसी के लिए ख़ास जगह 
गिनते रहो तारे तब तक 
जब तक थक ना जाये तुम्हारे दिमाग का कैलकुलेटर 
अपलक देखते रहो स्याह आसमान की तरफ तबतक 
जब तक ढूंढ  ना लो एक नया गृह 
जिसकी सतह पर पानी ना हो 
पर हाँ प्यार जरुर हो 
रखो सिराहने तले  अपने सारे प्रेमपत्र 
और चौकस हो जाओ इनकी पहरेदारी में 
सुनो ध्यान से झींगुरों का शोर 
पूछो उनसे रात का मतलब 
महसूस करो अपनी आँखों से 
रात का स्याह उजाला 
रात देती है जवाब सारे सवालों का 
अगर तुम जागकर करते हो सवाल 
क्यूंकि ये रात भी रात नहीं है 
ये दिन है 
जो रास्ता भटक चुकी है 
दिन भर जागते हुए 

अराहान 

2 टिप्‍पणियां:

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत ख़ूबसूरत प्रस्तुति...

Brajesh Singh ने कहा…

Dhanyawaad